Wednesday, 3 December 2014

कनॉट प्लेस दिल्ली की एक शाम

इस पोस्ट को शुरुआत से पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें 

काफी समय से आगे की पोस्ट को लिखने के बारे में लिखने के बारे में सोच रहा था । पर समय नहीं मिल पाने के कारण ऐसा नही हो सका । फिलहाल उस दिन सायं ५ बजे हम लोग कनॉट प्लेस, जोकि राजीव चौक मेट्रो स्टेशन के पास है, पहुँच चुके थे । मेट्रो स्टेशन से बाहर निकले तो सामने सच में क्या नज़ारा था । ऐसा लग रहा था की हम कहीं विदेश में हो । मेरे किसी दोस्त ने बताया था की कनॉट प्लेस में काफी विशाल तिरंगा ध्वज है जोकि बहुत बड़ा है । इसलिए और भी इच्छा हो रही थी । आज मै उसी जगह पर था मेरे साथ में मेरे दोस्त मंजीत के लिए भी एक नया अनुभव था ।


Sunday, 19 October 2014

एक सफर दिल्ली मेट्रो के साथ

अभी कल की ही बात है । आफिस की छुट्टी होने के कारण कमरे पर मै और मेरा दोस्त मंजीत जोकि हमारे ही गृहजनपद शहीदों की नगरी शाहजहाँपुर  के रहने वाले हैं । हम लोग आपस में दूर के रिश्तेदार भी हैं । हम लोगों ने निश्च्य  किया कि आज मैट्रो रेल की यात्रा का लुत्फ उठाया जाये । अपनी योजना के अनुसार हम लोग लगभग दोपहर का भोजन करने के बाद दोपहर के लगभग साढ़े ग्यारह बजे मेट्रो सेक्टर  १५  नोएडा स्टेशन पर पहुंचे । चूँकि मेट्रो स्मार्ट कार्ड होने की वजह से स्टेशन पर कोई दिक्कत नहीं हुई और हम लोग ट्रेन का इंतज़ार करने लगे जोकि नॉएडा सिटी सेंटर से द्वारका की और जा रही थी । थोड़ी देर बाद ट्रैन प्लेटफॉर्म पर आ गयी और हम ट्रैन में चढ़ गए । चूँकि दिल्ली मेट्रो यातायात का सुबिधाजनक होने तथा समय की बचत के कारण इसमें हमेशा ही भीड़ रहती है। बहुत ही किस्मत अच्छी हो तो सीट पर बैठने का अवसर मिल सकता है अन्यथा सफर खड़े खड़े ही करना पड़ता है | 

Thursday, 25 September 2014

दिल्ली अन्तर्राज्यीय बस स्टेशन से जुड़ीं कुछ जानकारियाँ

दिल्ली अन्तर्राज्यीय बस स्टेशन के  मुख्य पूंछतांछ नंबर्स
क्या आप बस से हिमाचल या राजस्थान जाने के बारे में सोंच रहे हैं ? इसके लिए आवश्यक है की बस यातायात और सड़क परिवहन के बारे में जानकारी हो । इससे आप अपना कीमती समय बचा सकते हैं और दिक्कतों से भी बच सकते हैं । दिल्ली में मुख्यतः ३ अन्तर्राज्यीय बस स्टेशन हैं जहाँ से कई राज्यों के लिए आसानी से बसें उपलब्ध हैं । इनमे से मुख्य बस स्टैंड आनंद विहार , कश्मीरी गेट और सराय काले ख़ान बस स्टेशन ।  राजस्थान परिवहन निगम का अपना स्टैंड बीकानेर हाउस में है जयं से राजस्थान के लिए बसें चलती हैं । हिमाचल रोडवेज की भी डीलक्स बसें हिमांचल भवन से चलती हैं ।

आनंद विहार , कश्मीरी गेट और सराय काले ख़ान बस रोडवेज  के कुछ मुख्य पूंछतांछ नंबर्स :-

ISBT Anand Vihar Enquiry Telephone Numbers - 011 - 22152431, 22148097
यहाँ से उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड के लिए बसें आसानी से उपलव्ध हैं ।

Thursday, 8 May 2014

जाना था राजा का सहसपुर पँहुच गये हल्द्वानी

वैसे तो मेरी इस उत्तराखण्ड की यात्रा की कोई पूर्व योजना नहीं थीं। लेकिन हाँ एक दोस्त कि शादी  में राजा का सहसपुर जाना था। यह स्थान जिला मुरादाबाद में चन्दौसी रोड पर स्थित एक छोटा रेलवे स्टेशन है। इस पूर्व योजना के तहत मुझे सुबह में ऊना हिमांचल एक्सप्रेस ट्रैन (१४५५६ ) से राजा क सहसपुर जाना था। जिसका वहाँ पहुँचने क समय १०:३० बजे है। फिलहाल इसी तैयारी में मै सुवह ६:३० बजे गाजियाबाद रेलवे स्टेशन पर पहुँच गया। जाकर राजा का सहसपुर क टिकट ले लिया । ६६ रुपये का टिकट था टिकट लेने के बाद जब ऊना हिमांचल ट्रेन का यहाँ पहुँचने क समय पता किया। ट्रैन निर्धारित समय ६:५५ मिनट से ३० मिनट देरी से चल रही थी।


Monday, 31 March 2014

पहली बार नीलकंठ महादेव और ऋषिकेश

वैसे तो पहले से ही नीलकंठ महादेव और ऋषिकेश जाने के बारे में सोच रहा था , बस इंतजार था समय का। अभी शनिबार को ऑफिस से जल्दी छुट्टी हो जाने के कारण इसी दिन जाने का पूर्ण निस्चय किया। पिछली बार मै इन्हीं दिनों हरिद्वार तक तो गया था। इस बार ऋषिकेश तक जाने कि योजना थी। एक मित्र जी को फोन किया लेकिन समय न होने के कारण असमर्थता बता दी। फिलहाल अकेले ही निकलना पड़ा। मैंने यह तय किया था कि शनिबार कि शाम में साहिबाबाद से ट्रैन से चलकर हरिद्वार और ऋषिकेश घूमकर रबिबार रात तक बापस आ जायेंगे।

Friday, 21 February 2014

दिल्ली से शाहजहाँपुर पैसेन्जर यात्रा

अभी पिछले सप्ताह रविवार को अचानक ही साहिबाबाद से शाहजहाँपुर जाना पड़ा। दिल्ली से एक पैसेंजर ट्रेन सीतापुर के लिए चलती है। जिसका समय रात्रि में १२ बजे दिल्ली से छूटने का है। और यह ट्रैन अगले दिन सायं ३ बजे तक सीतापुर पहुँचती है। दिल्ली से सीतापुर लगभग ४०० किलोमीटर दूर है। साहिबाबाद में इस ट्रैन के पहुँचाने का समय १२ बजकर ३० मिनट पर है।

पैसेंजर ट्रेन होने कि बजह से इस ट्रेन में हमेशा ही भीड़ रहती है। रात्रि में ट्रेन होने कि वजह से मुझे एक मित्र जी के यहाँ पर रुकना पड़ा।  फिलहाल हम लोग ट्रेन के समय को ध्यान में रखते हुए १२ बजे साहिबाबाद स्टेशन पर पहुँच गये। इस ट्रेन के आने में अभी समय था। इसलिए चाय पीने के साथ ट्रैन का इंतज़ार करने लगे। ट्रेन १२ .२० बजे प्लॅटफॉर्म पर आयी। साहिबाबाद स्टेशन दिल्ली के पास होने कि वजह से ट्रेन में उम्मीद से कम भीड़ थी। इसलिए शीट मिल गयी। ५ मिनट रुकने के बाद ट्रेन चल दी।

Thursday, 13 February 2014

दिल्ली कानपुर मार्ग पर पहली पैसेंजर यात्रा


अभी  अंतिम सप्ताह ही अचानक दिल्ली कानपुर मार्ग पर चलने वाली इलेक्ट्रॉनिक पैसेंजर लोकल ट्रैन से यात्रा करने का अवसर प्राप्त हुआ। इस मार्ग पर यह मेरी पहली पैसेंजर ट्रैन यात्रा थी। सप्ताह के रविवार के दिन मै और मेरे एक दोस्त ने साथ चलने का निस्चय  किया। हम लोगों को ग़ाज़ियाबाद से खुर्जा तक का सफ़र करना था। अपने प्रोग्राम के हिसाब से हम लोग प्रातः 9:30 बजे ग़ाज़ियाबाद स्टेशन पर पहुँच गये।