Skip to main content

Posts

देवप्रयाग से नोएडा वापसी लैंसडौन होते हुए

स्कूटी यात्रा की इस कड़ी में आज देखिये देवप्रयाग से नोएडा वापसी लैंसडौन होते हुए की वीडियो |  देवप्रयाग से लैंसडौन                                                             

नोएडा से देवप्रयाग स्कूटी यात्रा वीडियो

कैसे हैं आप सब, आशा करते हैं सब ठीक होंगे |  आज मेरी फरबरी २०२१ में नोएडा से देवप्रयाग तक की स्कूटी यात्रा के वीडियो का आनंद लीजिये |  नोएडा से हरिद्वार   हरिद्वार से देवप्रयाग

नोएडा से शाहजहांपुर स्कूटी यात्रा Noida to Shahjahanpur trip by Scooty

दिनाँक :१५ नवम्बर २०१९ (शुक्रवार )  Date : 15 November  2019 (Friday ) आज काफी समय बाद पोस्ट लिख़ने का मौका मिला | यात्रा किये हुए काफी समय हो गया है लेकिन यादें आज भी ताजा हैं | यह स्कूटी यात्रा १५ नवम्बर को की गयी थी | १७ सितम्बर को मेरे बेटे का मुंडन था | मेरी पत्नी और सुपुत्र जी hometown में थे | मैं यहाँ नोएडा में अकेला था | मन में विचार आया क्यों न इस बार घर जो की 3७८ किलोमीटर पड़ता है  स्कूटी से जाकर देखा जाये | हालांकि मै पहले भी हरिद्वार तक स्कूटी यात्रा कर चुका था जिसमे मैंने वापसी तक ५०० किलोमीटर से ज्यादा स्कूटी चलायी थी  |  इसलिए थोड़ा आत्मविस्वास था की घर जा सकते हैं | बहुत से लोगों ने स्कूटी से काफी लम्बी यात्राएं की हैं तो एक बार चलकर देखते हैं |  नाईट ड्यूटी करने के बाद सुबह ४ बजे रूम पर आ गए | नींद तो आ रही थी लेकिन कंट्रोल करना जरुरी था क्यूंकि आज ही घर भी पहुंचना था | तो बैग पैक किया और ५:३५ बजे सुबह स्कूटी स्टार्ट करते ही इस सफर की शुरुआत हो गयी | सर्दियों का मौसम होने के कारण अभी अँधेरा भी था और ठंडक भी | फिलहाल चिंता की कोई बात नहीं मैं हेलमेट , ग्लव्स क

देहरादून और मसूरी यात्रा, उत्तराखण्ड Trip to Dehradun and Mussorie, Uttarakhand

दिनांक: २२-२३ सितम्बर २०१९          देहरादून और मसूरी यात्रा का प्रोग्राम भी अचानक ही यात्रा से २-३ दिन पहले ही बना |  २३ सितम्बर को मेरे बेटे का जन्मदिन होता है | इस वर्ष  दूसरा जन्मदिन था | १९  सितम्बर को मेरी पत्नी जी से जन्मदिन मनाने के बारे में चर्चा हो रही थी इसी बीच  उन्होंने बताया कि उनके छोटे भाई यानि की मेरे छोटे साले जी विपुल भी कल नोएडा आ रहे हैं | बातों ही बातों में कब  देहरादून और मसूरी यात्रा का प्रोग्राम बन गया पता ही नहीं चला | 21 सितम्बर को नाईट ड्यूटी करने के बाद  ४ बजे रूम पर आ गए |  सुबह 7:00 बजे के आसपास गाजियाबाद से देहरादून शताब्दी ट्रेन थी जिससे हम  लोगों को देहरादून जाना था |  सुबह कैब से  गाजियाबाद रेलवे स्टेशन पर 6:00 बजे आ गए | 

स्कूटी यात्रा - नोएडा से हरिद्धार- मुरादाबाद होते हुए नोएडा वापसी Noida to Haridwar and return trip by Scooty

दिनांक : २६ से २८ मई २०१९  सभी ब्लॉग मित्रों को नमस्कार, काफी समय हो गया था ब्लॉग पर कोई यात्रा लेख लिखे हुए | अभी अप्रैल माह में नयी होंडा एक्टिवा 5G  स्कूटी खरीदी | तब से मन में कही जाने का विचार चल रहा था | लेकिन समय ना मिलने के कारण कहीं जाना नहीं हो सका |  आखिरकार २९ मई को परिवार में शादी समारोह की वजह से सप्ताहांत  समेत छुट्टियाँ मिल गयी | इसी समय मैने नोएडा से मेरठ होते हुए हरिद्धार और फिर हरिद्धार से नजीबाबाद, मुरादाबाद होते हुए नोएडा वापसी का प्लान बनाया | हालाँकि स्कूटी से यह सफर ज्यादा ही कहना चाहिए लेकिन चलो चलते है |  शनिवार २५ मई रात्रि ऑफिस करने के बाद २६ को रूम पर वापस आकर कुछ देर विश्राम किया और सुबह निर्धारित ५ बजे इस यात्रा की शुरुआत कर दी |

छोटा हरिद्वार : बृजघाट, गढ़ मुक्तेस्वर यात्रा (उत्तर प्रदेश )

१६ जनबरी २०१८ , मंगलवार  इस नए साल यात्रा की शुरुआत उत्तर प्रदेश के छोटा हरिद्वार और आस्था के संगम गंगा जी के किनारे स्थित बृजघाट, गढ़ मुक्तेस्वर से हुई |  १६ जनबरी २०१८ को मौनी अमावस्या का शुभ दिन होने के कारण यहाँ जाना निश्चित हुआ | वैसे तो यह स्थान मेरे घर जाने के रास्ते में बीच में ही पड़ता है लेकिन कभी जाना नहीं हो पाया | चलिए आज चलते हैं | १५ जनवरी को नाईट शिफ्ट करने के बाद सुबह फ्री हुए | रूम पर थोड़ा आराम करने के बाद सुबह ठीक ५:३० बजे ऑटो पकड़ कर सीधे सेक्टर ६२ पहुंचे | फिर यहाँ से शेयर्ड ऑटो से २० मिनट बाद आनंद विहार बस स्टेशन , दिल्ली पहुँच गए | तब तक सुबह हो गयी थी और ६:३० बजे समय हो गया था | बृजघाट, गढ़ मुक्तेस्वर जाने के लिए बसें आनंद विहार बस स्टेशन, दिल्ली से मिलती हैं | दिल्ली लखनऊ हाइवे पर स्थित होने के कारण यहाँ आप बरेली , मुरादाबाद , लखनऊ या फिर सीधे गढ़ मुक्तेस्वर जाने वाली बस से पहुँच सकते हैं | दिल्ली से बृजघाट, गढ़ मुक्तेस्वर ९४ किलोमीटर है | २-३ घंटे में आसानी से पहुंचा जा सकता है | मुझे मुरादाबाद जाने वाली बस मिल गयी | ११६ रुपये का टिकट लेकर बस में आगे ही खिड़की

बर्ष 2017 में की गयीं यात्राओं का लेखा जोखा

सबसे पहले सभी bolg मित्रों को आगामी क्रिसमस और नववर्ष की हार्दिक शुभकामनायें | बर्ष 2017 यात्राओं के लिहाज से ठीक ही रहा हालाँकि पारिवारिक परिस्थितियों और पुत्र रत्न की प्राप्ति की वजह से ज्यादा तो नहीं लेकिन २०१६ की तरह कुछ यात्रायें इस बर्ष भी हुईं | जिनका संछिप्त विवरण इस प्रकार है- साल २०१७ की पहली यात्रा जनवरी माह में ही  भारतीय रेल संग्रहालय, नई दिल्ली   की हुई यह यात्रा २८ जनवरी को की गयी | अचानक ही सप्ताहांत पर जाने का अवसर प्राप्त हुआ | १ दिन की यह यात्रा शानदार रही और भारतीय रेल के बारे में और जानकारी प्राप्त हुई |